जो लोग खुद को हिन्दू कहते हैं वो 24 घंटे हिंसा, नफरत, असत्य करते हैं: राहुल गांधी

कांग्रेस नेता और लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष राहुल गांधी ने सोमवार (1 जुलाई) को संसद सत्र के बीच विवादित बयान देकर हिंदू समाज में आक्रोश पैदा कर दिया है।

राष्ट्रपति के अभिभाषण को लेकर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान अपने संबोधन में राहुल ने कहा कि “ये देश अहिंसा का देश है, डर का देश नहीं है। हमारे सारे महापुरुषों ने अहिंसा की बात की, डर मिटाने की बात की– डरो मत, डराओ मत। शिवजी भी यही कहते हैं, अभयमुद्रा दिखाते हैं। अहिंसा की बात करते हैं। त्रिशूल को जमीन में गाड़ देते हैं। और जो लोग खुद को हिन्दू कहते हैं वो 24 घंटे हिंसा-हिंसा-हिंसा, नफरत-नफरत-नफरत, असत्य-असत्य-असत्य करते हैं।”

राहुल यही नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा कि पिछले 10 वर्षों में अल्पसंख्यकों पर अन्याय बहुत तेज़ी से बढ़े हैं। भाजपा ने मुसलमानों के विरुद्ध हिंसा और अत्याचार किया है, सिखों और क्रिश्चन्स के खिलाफ नफ़रत फैलाई है – हर अल्पसंख्यक वर्ग पर आक्रमण किया है। अल्पसंख्यक हर क्षेत्र में हिंदुस्तान का प्रतिनिधित्व करते हैं, नाम रौशन करते हैं – वो चट्टान की तरह भारत के साथ खड़े रहने वाले देशभक्त हैं।

उन्होंने खुद को सही ठहराते हुए इस बारे में अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर पोस्ट भी किया. जिस पर दर्शकों की मिली-जुली प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। एक ओर जहां इंडी गठबंधन के समर्थक इसको समर्थन दे रहे हैं वहीं हिंदूवादी लोगों का इस पर कड़ा रूख है।

लोकसभा में राहुल गांधी के हिंदुओं पर नफरती बयान देने के बाद भाजपा सांसदों ने हंगामा कर दिया। नेता प्रतिपक्ष की यह बात सुन प्रधानमंत्री मोदी अचानक अपनी सीट से उठे और राहुल को करारा जवाब देते हुए कहा, ”पूरे हिंदू समाज को हिंसक कहना गंभीर विषय है।” वहीं, गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि राहुल ने हिंदुओं का अपमान किया है।

ऐसे में अब देखना यह होगा कि क्या उनके इस हिंदू विरोधी बयान ने एक बार फिर उनकी हिंदुओं के प्रति घृणा को उजागर कर दिया है और क्या वह केवल वोट बैंक के लिए ही हिंदुओं का इस्तेमाल करते हैं ?

Jat Bulletin

जाटों के लिये,जाट समाचारों के लिये अब आपके बीच आया "जाट बुलेटिन" जाटों की खबरों का संसार। जिसमें मिलेगी समाज से जुड़ी उपलब्धियां, महापुरुषों का इतिहास,समाज से जुड़ी हर घटना की खबर सीधे आपके स्मार्ट फोन पर। साथ ही "जाट बुलेटिन" में है विश्वस्तरीय जाट डाइरेक्टरी, बेटा-बेटी के लिये हजारों रिश्ते साथ ही मिलेगा पर्यटन,व्यंजन,फैशन,ज्योतिष, जाटों का इतिहास,हेल्पलाइन,सेहत के लिये हेल्थलाइन और बहुत सी जानकारियों का संग्रह अधिक जनकारियों के लिये अभी लॉगिन करें http://jatbulletin.com हमसे जुड़ने व जोड़ने के लिये वाट्सएप-9410083046,8384811104 ट्विटर- @bulletinjat यूट्यूब-jatbulletin को सब्सक्राइब कर बैल आइकन जरूर दबाएं

Related Posts

संसद (Parliament) के मानसून सत्र 2024 के शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री ने मीडिया को संबोधित किया..

देश की संसद (Parliament) मैं आज से शुरू होने वाले मानसून सत्र से पहले आज प्रधानमंत्री मोदी ने मीडिया को संबोधित करते हुए ये बात कही। एजेंसी, नई दिल्ली। आज…

“भविष्य अभी है” (The Future is Now): थीम का केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने IMC-2024 के लिए किया अनावरण..

केंद्रीय संचार और पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कल इंडिया मोबाइल कांग्रेस 2024 की थीम ‘भविष्य अभी है’ (The Future is Now) का अनावरण किया। यह विषय इस…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Missed

संसद (Parliament) के मानसून सत्र 2024 के शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री ने मीडिया को संबोधित किया..

संसद (Parliament) के मानसून सत्र 2024 के शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री ने मीडिया को संबोधित किया..

मिज़ोरम (Mizoram): प्राकर्तिक सौंदर्य से घिरा एक अलौकिक व अद्भुत स्थान..

मिज़ोरम (Mizoram): प्राकर्तिक सौंदर्य से घिरा एक अलौकिक व अद्भुत स्थान..

इजराइल (Israel) ने हूती विद्रोहियों के ठिकाने पर भीषण आक्रमण कर दी हमलावरों को सख्त चेतावनी..

इजराइल (Israel) ने हूती विद्रोहियों के ठिकाने पर भीषण आक्रमण कर दी हमलावरों को सख्त चेतावनी..

गुरु पूर्णिमा (Guru Purnima): अपने गुरु के प्रति श्रद्धा और सम्मान का पर्व..

गुरु पूर्णिमा (Guru Purnima): अपने गुरु के प्रति श्रद्धा और सम्मान का पर्व..

“भविष्य अभी है” (The Future is Now): थीम का केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने IMC-2024 के लिए किया अनावरण..

“भविष्य अभी है” (The Future is Now): थीम का केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने IMC-2024 के लिए किया अनावरण..

चरक संहिता (Charak Samhita): आयुर्वेद के सबसे महत्वपूर्ण और प्राचीन ग्रंथों में से एक का संक्षिप्त परिचय..

चरक संहिता (Charak Samhita): आयुर्वेद के सबसे महत्वपूर्ण और प्राचीन ग्रंथों में से एक का संक्षिप्त परिचय..